X

Hindi Gadya Sahitya : Katha Sahitya

By Prof. Deo Shankar Navin   |   School of Language Literature and Culture Studies, JNU | New Delhi
Learners enrolled: 566

एम.ए. हिंदी साहित्य के पाठ्यक्रम के अंतर्गत अब हम 'हिंदी गद्य साहित्य : कथा साहि‍त्य' की चर्चा करेंगे। भारतीय विश्वविद्यालयों में एम.ए. हिंदी–पाठ्यक्रम में ‘हिंदी गद्य साहित्य : कथा साहि‍त्य' से संबंधित एक प्रश्नपत्र अनिवार्यतः पढ़ाया जाता है, जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों को 'हिंदी गद्य साहित्य: कथा साहि‍त्य' से परिचित करवाना होता है, क्योंकि बिना हिंदी गद्य साहित्य कथा साहि‍त्य को समझे भाषा और साहित्य के सर्जनात्मक विकास को समझना कठिन होगा। किसी भी भाषा और साहित्य के इतिहास को हम इसलिए नहीं पढ़ते हैं कि उस साहित्य के अतीत की अनेक तिथियों, घटनाओं, कहानियों के साथ कवियों और उनकी रचनाओं के नाम जान लें, बल्कि साहित्य के इतिहास का अध्ययन इसलिए आवश्यक है कि विभिन्न कालखंडों में अवस्थित कवियों के काव्यात्मक वैशिष्ट्य के साथ उनके द्वारा रचित साहित्य की विकासधारा को हम भलीभाँति जान और समझ सकें। इस दृष्टि से विचार करने पर प्रस्तुत पाठ्यक्रम में आख्यान शास्त्र के विविध आयाम से लेकर आधुनिककाल के कहानीकार काशीनाथ सिंह की कहानी 'कविता की नई तारीख' तक को समग्रता से सम्मिलित किया गया है। इसके अंतर्गत प्रेमचन्द से लेकर काशीनाथ सिंह तक प्रत्येक काल की प्रमुख प्रवृत्तियों के विवेचन-विश्लेषण के लिए अधुनातन शोध-अनुसंधान तथा नवीन तथ्यों के आलोक में तटस्थ एवं वस्तुपरक आकलन का प्रयास किया गया है, जिससे विद्यार्थियों को हिंदी गद्य साहित्य कथा साहि‍त्य को निष्पक्ष ढंग से जानने-समझने में सुविधा हो सके।

Summary
Course Status : Ongoing
Course Type : Core
Duration : 15 weeks
Start Date : 10 Jan 2022
End Date : 30 Apr 2022
Exam Date :
Enrollment Ends : 28 Feb 2022
Category :
  • Language
Credit Points : 4
Level : Postgraduate

Page Visits



Course layout

Week 1 
आख्यान शास्त्र के विविध आयाम
उपन्‍यास की संरचना

Week 2 
हिन्‍दी गद्य : कथा-साहित्य का उद्भव एवं विकास
हिन्‍दी उपन्‍यास लेखन : पृष्‍ठभूमि‍ एवं परम्परा
हिन्‍दी उपन्‍यास लेखन : प्रमुख प्रवृत्ति‍याँ 

Week 3 
हिन्‍दी का पहला उपन्यास : एक विमर्श
कहानी कला : प्रयास एवं परिणतियाँ
हिन्‍दी की पहली कहानी : एक विमर्श

Week 4 
प्रेमचन्‍द का उपन्‍यास-लेखन और गोदान
गोदान का कथ्‍य एवं शिल्प

Week 5
गोदान का सामाजि‍क सरोकार
हिन्‍दी आलोचना में गोदान का मूल्यांकन

Week 6
आँचलि‍कता की अवधारणा और हिन्‍दी उपन्‍यास
मैला आँचल का कथ्‍य एवं शिल्प

Week 7
मैला आँचल में लोक-जीवन
हिन्‍दी आलोचना में मैला आँचल का मूल्यांकन

Week 8
हजारीप्रसाद द्विवेदी एवं वाणभट्ट की आत्मकथा
वाणभट्ट की आत्मकथा का कथ्‍य एवं शिल्प

Week 9
वाणभट्ट की आत्मकथा में प्रेम का स्वरूप
हिन्‍दी आलोचना में वाणभट्ट की आत्मकथा का मूल्यांकन

Week 10
विनोद कुमार शुक्ल का उपन्यास लेखन और नौकर की कमीज
हिन्‍दी में अनूदित उपन्यास : एक सर्वेक्षण

Week 11
उसने कहा था
कफन
आकाशदीप

Week 12
पत्‍नी
गदल
रोज (गैंग्रीन)

Week 13
स्वातन्‍त्र्योत्तर हिन्‍दी कथा-लेखन की पृष्‍ठभूमि‍
स्वातन्‍त्र्योत्तर हिन्‍दी कथा-लेखन की प्रवृत्ति‍याँ
परिन्‍दे
अमृतसर आ गया गया

Week 14
सिक्का बदल गया
यही सच है
दोपहर का भोजन
कोसी का घाटवार

Week 15
राजा निरबंसि‍या
पत्थर के नीचे दबे हुए हाथ
हास्‍य रस
कविता की नई तारीख

Books and references

अतिरिक्त जानें 

 पुस्तकें- 

1. आख्यानशास्त्र : गौतम सान्याल, मेधा बुक्स, नवीन शाहदरा, नई दिल्ली 

2. The Cambridge Introduction to Narratives, Porter Abbot A, Cambridge University Press, London 

3. An Introduction to the Theory of Narrative , Rolland Barthes,Translated by Stephan Heath, Susan Sontag’s A Barthes Reader Hill and Wang, New York

4. The Pleasure of Text, Rolland Barthes, translated by Richard Miller, Cope, London,

5. Narratology; Introduction to the Theory of Narrative, Mieke Bal ,Translated by Christine Van Boheeman, University of Toronto Press, London

6. The Rehtoric of Narrative in Fiction and Films, Seymor Chatman, Cornell University Press, Ithaka, London

7. Narrative Discourse: An Essay, Gerard Gennett, Cornell University Press, Ithaka

8. Narratology, Edited by Susana Onega and Jose Garcia Landa, Orient Longman, London

9. A comapanion to Narrative Theory, Edited by James Phelan and Peter Robinowitz, Blackwell

10. Dictionary of Narrative, Gerald Prince, University of Nebraska Press, Austin

11. A Theory of Narrative, F. K. Stanzel ,Translated by C. Goedsche, Cambridge University Press, London


वेब लिंक्स

1. https://en.wikipedia.org/wiki/Narratology

2.  https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%86%E0%A4%96%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%A8

3.  https://www.youtube.com/watch?v=woc3kGzMxA8

4.  https://www.youtube.com/watch?v=Wyqw9YKZqTY


Instructor bio

Prof. Deo Shankar Navin

School of Language Literature and Culture Studies, JNU | New Delhi
Academic:
1. Lecturer in GLA College Daltonganj, Ranchi Univ. from January 1985 to January 1991. 
2. Editor in National Book Trust, India, New Delhi from March 1993 to Feb 2009. 
3. Associate Professor in School of Translation Studies & Training, IGNOU, New Delhi from Feb 2009 to May 2014. 
4. Professor in Centre of Indian Languages, JNU, New Delhi from May 2014 Till Date. 
5. Language Editor of ePGPathshala Hindi (A Major Project of MHRD & UGC). 
6. Coordinator for MOOC (UGC) Hindi Adhunik Kavita. 
7. Coordinator for MOOC (UGC) Hindi Gadya Sahitya Katha Sahitya. 
8. Principal Investigator for ePGPathshala Hindi & Massive Open Online Course (MOOC) Project of UGC

Administrative:
1. Hostel Superintendent, GLA College Hostel, Daltonganj; Ranchi University 
2. Director, School of Translation Studies & Training, IGNOU, New Delhi. 
3. Warden, Sabarmati Hostel, JNU, New Delhi 

Awards and Honours:
1. Best Young Poet award by Hindi Akademi, Delhi in 1991
2. Uttar Pradesh Hindi Sansthan Sauhard Samman, 2013
3. DBD Koshi Samman-2015, Begusaray.
4. Vidyapati Samman-2017, Rajbhasha Vibhag, Bihar Sarkar

Publications:
1. Published 45 Books in both the languages--Hindi and Maithili
2. Sole authored         14
3. Compiled & Edited 24
4. Translated                 08

1. More than thirty chapter writings included in 26 Books compiled by distinguished Scholars.
2. More than three hundred Research Articles/Papers published in in various prestigious Journals/Periodicals
3. Around two dozen pieces are translated and published in Bangla, Punjabi, Assamiya, Telugu, Malayalam, English etc.

Course certificate

30 Marks will be allocated for Internal Assessment and 70 Marks will be allocated for external proctored examination


MHRD logo Swayam logo

DOWNLOAD APP

Goto google play store

FOLLOW US